• Homepage
  • >
  • खेल
  • >
  • नर्वस 90 का शिकार हुए शॉ, सुपर ओवर में जीती दिल्ली

नर्वस 90 का शिकार हुए शॉ, सुपर ओवर में जीती दिल्ली

नर्वस 90 का शिकार हुए शॉ, सुपर ओवर में जीती दिल्ली
नई दिल्ली. शनिवार को दिल्ली में आईपीएल-12 का सबसे रोमांचक मुक़ाबला खेला गया. इस मुक़ाबले का फ़ैसला सुपर ओवर में हुआ क्योंकि पहले तो कोलकाता ने निर्धारित 20 ओवर में आठ विकेट खोकर 185 रन बनाए और उसके बाद दिल्ली भी छह विकेट खोकर 185 रन बना सकी. सुपर ओवर में दिल्ली तीन रन से जीती. सुपर ओवर में कोलकाता के सामने जीत के लिए 11 रनों का लक्ष्य था लेकिन दिल्ली के कगिसो रबाडा ने केवल सात रन दिए.
 
दुनिया के सबसे तेज़ गेंदबाज़ की पहली गेंद पर आंद्रे रसेल ने चौका लगाया लेकिन वह तीसरी गेंद पर आउट हो गए. उसके बाद रोबिन उथप्पा और कप्तान दिनेश कार्तिक केवल तीन रन बना सके. दूसरी तरफ दिल्ली ने सुपर ओवर में ऋषभ पंत और श्रेयस अय्यर के साथ शुरुआत की. सामने थे कोलकाता के गेंदबाज़ पी कृष्णा. श्रेयस अय्यर चार रन बनाकर पीयूष चावला के हाथों कैच भी हुए लेकिन दिल्ली 10 रन बनाने में कामयाब रही.
 
जो भी हो कोलकाता के लिए दिल्ली में जीत दूर ही साबित हुई. इससे पहले दिल्ली ने जीत के लिए 186 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए सलामी बल्लेबाज़ पृथ्वि शॉ के शानदार 99 रनों की मदद से निर्धारित 20 ओवर में आठ विकेट खोकर 185 रन बनाए. मैच टाई हो गया और इसके साथ ही यह मुक़ाबला सुपर ओवर में पहुंच गया.
 
20वें और आखिरी ओवर में दिल्ली कैपिटल्स को जीत के लिए महज़ छह रनों की ज़रूरत थी लेकिन कुलदीप यादव ने अपनी घूमती गेंदों से कोलकाता को हार से थोड़ी देर के लिए हार से बचा लिया. उन्होंने हनुमा विहारी का विकेट भी लिया जो केवल दो रन बना सके.
 
आखिरी गेंद पर जीत के लिए दो रनों की ज़रूरत थी लेकिन कोलिन इनग्रैम एक रन बनाकर रन आउट हो गए. दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर ने भी 32 गेंदों पर चार चौके और दो छक्कों की मदद से 43 रन बनाए. पृथ्वी शॉ का क़िस्मत ने साथ नहीं दिया वरना वह शतक बना सकते थे. उन्होंने केवल 55 गेंदों पर 12 चौके और तीन छक्कों की मदद से 99 रन बनाए.
 
दिल्ली के सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन केवल 16 और ऋषभ पंत भी केवल 11 रन बना सके. कोलकाता की ओर से कुलदीप यादव ने 41 रन देकर दो विकेट हासिल किए. आंद्रे रसेल ने 28 रन देकर एक विकेट हासिल किया. वहीं इससे पहले कोलकाता नाइट राइडर्स के आंद्रे रसेल ने शनिवार को भी कमाल की पारी खेली.
 
वह कोलकाता के लिए इस साल बहुत कुछ करने वाले है यह उन्होंने साबित भी कर दिया. जब वह मैदान में उतरे तब कोलकाता का स्कोर पांच विकेट खोकर 65 रन था और कोलकाता मुश्किल में फंसी हुई थी. रसेल के 62 रनों की मदद से कोलकाता स्कोर बोर्ड पर आठ विकेट खोकर 185 रन टांगने में कामयाब रहा. हांलाकि इसमें कप्तान दिनेश कार्तिक के 50 रनों के योगदान को कम नहीं माना जा सकता, लेकिन टर्निंग पॉइंट तब आया जब आंद्रे रसेल मैदान में उतरे.
 
उन्होंने कोलकाता को संकट से निकालते हुए केवल 28 गेंदों पर चार चौके और छह छक्के लगाते हुए जैसे रनों की बरसात कर दी. वैसे भी शाम को दिल्ली में थोड़ी सी बूंदाबादी हुई थी. रसेल ने 62 रन बनाए.
 
यह इस आईपीएल में उनका पहला अर्धशतक है. इससे पहले उन्होंने सनराइज़र्स हैदराबाद के ख़िलाफ नाबाद 49 और किंग्स इलेवन पंजाब के ख़िलाफ 48 रन बनाए थे. कोलकाता को कप्तान दिनेश कार्तिक और आंद्रे रसेल ने संभाला. इन दोनों ने छठे विकेट के लिए 95 रनों की साझेदारी की. जब रसेल का बल्ला रन बरसा रहा था तब दिल्ली कैपिटल्स से जुड़े भारत के पूर्व कप्तान और कभी कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान रहे सौरव गांगुली बाउंड्री लाइन के बाहर खड़े दांतो तले अंगुली दबाए हुए थे.
 
इससे पहले टॉस हारकर पहले बल्लेबाज़ी की दावत पाकर कोलकाता को एक के बाद एक पांच झटके लगे. सलामी जोड़ी निखिल नायक सात और क्रिस लिन 20 रन बनाकर आउट हुए. उसके बाद रोबिन उथप्पा 11, नीतीश राणा एक और शुभमन गिल केवल चार रन बना सके. दिल्ली के लिए राहत की बात रही कि लगभग जीती हुई बाज़ी हाथ से गंवाने के बाद वह दोबारा सुपर ओवर में जीत का जीवनदान पाने में कामयाब रही.
  • facebook
  • googleplus
  • twitter
  • linkedin